West Bengal Elections 2021: ममता ने BJP आईटी सेल पर साधा निशाना -‘TMC के नाम पर झूठे फोन कर बंगाल की जनता को गुमराह कर रहे’

हाइलाइट्स:

  • ममता बनर्जी ने बीजेपी आईटी सेल पर बंगाल की जनता को गुमराह करने का आरोप लगाया
  • ममता ने कहा कि टीएमसी के नाम पर फोन कर चुनावी माहौल जानने की कोशिश की जा रही
  • ममता बनर्जी ने बीजेपी शीर्ष नेतृत्‍व से आईटी सेल के खिलाफ कार्रवाई करने की मांग की

कोलकाता
पश्चिम बंगाल की मुख्‍यमंत्री ममता बनर्जी (Mamta Banerjee) भारतीय जनता पार्टी और इसके नेताओं पर लगातार किसी न किसी मुद्दे को लेकर हमलावर रहती हैं। बंगाल विधानसभा चुनावों (West Bengal Assembly Elections) से पहले ममता बनर्जी और आक्रामक हो गई हैं। बंगाल में सियासी गहमागहमी के बीच मंगलवार को उन्‍होंने बीजेपी की आईटी सेल (Bjp It Cell) पर निशाना साधते हुए आरोपों की झड़ी लगा दी। उनका दावा है कि आईटी सेल तृणमूल कांग्रेस के नाम से बंगाल की जनता को गुमराह कर रही है।

ममता बनर्जी ने कहा कि बीजेपी आईटी सेल के लोग बंगाल में लोगों को तृणमूल कांग्रेस के नाम पर फोन कर रहे हैं और वोटिंग वगैरह को लेकर पूछताछ कर रहे हैं। ममता ने आरोप लगाया कि टीएमसी के नाम से लोगों को अश्‍लील मैसेज भी भेजे गए।

’21 साल की लड़की तक को नहीं बख्‍श रहे’
टूलकिट मामले में गिरफ्तार की गई क्लाइमेट ऐक्टिविस्ट दिशा रवि को लेकर भी ममता ने बीजेपी आईटी सेल पर कई बड़े आरोप लगाए हैं। ममता ने कहा- ‘ये दुर्भाग्‍यपूर्ण है कि बीजेपी आईटी सेल 21 साल की लड़की या बेंगलुरु, दिल्‍ली और केरल के ‍ पत्रकार को भी नहीं बख्‍श रहे हैं। उनकी सहानुभूति बीजेपी आईटी सेल के उन लोगों के साथ है जो भ्रामक बातें फैलाते हैं।’ ममता ने कहा कि बीजेपी आईटी सेल लगातार लोगों के बीच झूठी खबरें फैलाती रहती है। ममता ने दिशा रवि की गिरफ्तारी का विरोध जताया है।

जाधवपुर यूनिवर्सिटी के प्रोफेसर के पास आया था फोन
बताया जा रहा है कि जाधवपुर यूनिवर्सिटी के एक प्रोफेसर के पास तृणमूल कांग्रेस के नाम से फोन आया था। यह मामला सामने आने पर ममता ने लोगों से अपील की कि टीएमसी की तरफ से ऐसा कोई फोन नहीं किया जा रहा है, इसलिए लोग इस पर ध्‍यान ना दें। ममता ने इसका आरोप बीजेपी आईटी सेल पर लगाते हुए बीजेपी के शीर्ष नेतृत्‍व से इसके खिलाफ कार्रवाई किए जाने की मांग की है।

बंगाल में ममता या भाजपा किसकी बनेगी सरकार? जानें क्या कहता है सी वोटर, CNX का सर्वे

‘फोन कर चुनावी लहर जानने की हो रही कोशिश’
ममता बनर्जी का कहना है कि टीएमसी के नाम पर लोगों के पास फोन करने के मामले में बंगाल पुलिस छानबीन कर रही है। टीएमसी के नाम पर फोन करने वाले ये लोग पता लगाने की कोशिश कर रहे हैं कि राज्‍य में चुनावी लहर किस पार्टी की तरफ है। लोग इस बार के चुनावों में किसको अपना वोट देने वाले हैं, इस तरह की चीजें फोन के जरिए पता लगाने की कोशश की जा रही है।

पहले भी आईटी सेल को घेरती रही हैं ममता

आपको बता दें कि बीजेपी आईटी सेल के खिलाफ ममता बनर्जी का यह गुस्‍सा नया है। पहले भी कई मुद्दों को लेकर आईटी सेल को घेरती रही हैं। कुछ समय पहले जाधवपुर यूनिवर्सिटी के एक प्रोफेसर अंबिकेश महापात्रा को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया था जिन्‍होंने सोशल मीडिया पर ममता सरकार से संबंधित एक मीम शेयर किया था। उस दौरान भी बीजेपी आईटी सेल पर आरोप लगे थे।

बंगाल में लेफ्ट-कांग्रेस के लिए बुरी खबर…मुख्य विपक्ष का दर्जा भी छिनेगा! बीजेपी को ये फायदा

चुनाव हारने जा रहीं ममता, लगा रहीं मनगढंत: आरोप अमित मालवीय
दूसरी ओर, बीजेपी आईटी सेल के प्रमुख अमित मालवीय ने कहा है कि यह ममता बनर्जी की हताशा है। वह चुनाव हारने जा रही हैं, इसलिए मनगढंत आरोप लगा रही हैं। मालवीय ने कहा कि पूरे देश ने देखा कि गणतंत्र दिवस पर लाल किले पर किस तरह उपद्रव किया गया। इससे जुड़े मामले में ही दिशा रवि की गिरफ्तारी की गई है। इसका बीजेपी आईटी सेल से कोई लेना-देना नहीं है। ममता बनर्जी देशविरोधी ताकतों का साथ दे रही हैं।

‘मारे जा रहे बीजेपी कार्यकर्ता, ममता कुछ नहीं बोलतीं’
अमित मालवीय ने कहा कि ममता के बंगाल में अब तक 130 बीजेपी कार्यकर्ता मारे जा जा चुके हैं पर राज्‍य की मुख्‍यमंत्री और गृहमंत्री होने के नाते इस मुद्दे पर आज तक उन्‍होंने एक भी बयान नहीं दिया है। ममता बनर्जी कुछ भी बोलती हैं। जहां तक वोटरों को गुमराह करने का मामला है, ममता बनर्जी के पास इस बात का कोई सबूत नहीं है। पुलिस जांच कराने की धमकी वही लोग देते हैं जिनके पास सबूत नहीं होते हैं।

Source link

Leave a Comment