Saraswati Puja Muhurat 2021 बसंत पंचमी पर धन योग, सरस्वती पूजा का यह रहेगा शुभ मुहूर्त


बसंत पंचमी सरस्वती पूजा हर साल माघ मास की शुक्ल पक्ष की पंचमी तिथि को मनाई जाती है। पौराणिक कथाओं के अनुसार, ज्ञान और विद्या की देवी सरस्वती का प्राकट्य इसी दिन हुआ था। इनके प्राकट्य के बाद ही ध्वनि शून्य सृष्टि में स्वर का संचार हुआ। इसलिए हर साल माघ मास की पंचमी तिथि को बसंत पंचमी के दिन सरस्वती पूजन किया जाता है।

यूं तो कभी भी किसी दिन सरस्वती देवी की पूजा कल्याणकारी मानी गई है लेकिन बसंत पंचमी के दिन की इनकी पूजा का खास महत्व है। इस पर भी अबकी बार बसंत पंचमी पर कुछ खास योगों ने इस दिन को और महत्वपूर्ण बना दिया है। इस बार बसंत पंचमी के दिन ज्ञान और बुद्धि के कारक ग्रह गुरु, शुक्र और बुध तीनों एक ही राशि में बैंठें हैं। इसके साथ ही इस बार सरस्वती पूजा के दिन तीन शुभ योग निर्मित हो रहे हैं।

बंसत पंचमी पर चार शुभ योग

  • 16 फरवरी यानी आज बंसत पंचमी को पंचक समाप्त हो रहा है
  • शाम 8 बजकर 57 मिनट से सर्वार्थ सिद्धि योग, अमृत सिद्धि योग और रवि योग
  • शाम 8 बजकर 57 मिनट पर चंद्रमा मेष राशि में आकर धन योग बनाएंगे

बसंत पंचमी सरस्वती पूजा मुहूर्त 2021

  • पंचमी तिथि का आरंभ 16 फरवरी सुबह 3 बजकर 38 मिनट
  • पंचमी तिथि का समापन 17 फरवरी सुबह 5 बजकर 47 मिनट
  • सरस्वती पूजन का शुभ समय सुबह 11 बजकर 12 मिनट से 1 बजकर 59 मिनट तक
  • सरस्वती विसर्जन समय 17 फरवरी सुबह 6 बजकर 57 से 9 बजकर 46 तक
  • शुभ चौघड़िया में 11 बजकर 10 मिनट से 12 बजकर 35 मिट तक

Source link

Leave a Comment