Rashi Parivartan April 2021: बृहस्पति का महाराशि परिवर्तन 5 अप्रैल से, किसी की बढ़ेगी आय, कोई होगा परेशान

Astrology

lekhaka-Gajendra sharma

|

नई दिल्ली। देवताओं के गुरु और ग्रहों में सबसे बड़े और प्रमुख बृहस्पति का महाराशि परिवर्तन 5 अप्रैल को मध्यरात्रि में 12 बजकर 25 मिनट से होने जा रहा है। बृहस्पति अभी तक शनि के साथ मकर राशि में स्थित हैं। राशि परिवर्तन करके वे कुंभ राशि में प्रवेश करेंगे। बृहस्पति एक राशि में एक वर्ष तक भ्रमण करते हैं, ये 14 अप्रैल 2022 तक कुंभ राशि में ही रहेंगे। हालांकिइस बीच वक्री होने के कारण कुछ माह के लिए पुन: मकर राशि में भी गोचर होगा। बृहस्पति के राशि परिवर्तन से सभी राशि के जातक प्रभावित होंगे। कुछ राशि वालों की किस्मत खुलने वाली है तो किसी को परेशान होना पड़ेगा। राजनीति, सत्तापक्ष में उथल-पुथल मचेगी। प्राकृतिक आपदाएं इस दौरान आ सकती है।

ऐसे होगा बृहस्पति का गोचर

  • 5 अप्रैल 2021 रात्रि 12.25 बजे से मकर से कुंभ में प्रवेश
  • 20 जून 2021 रात्रि 8.34 बजे वक्री गुरु
  • 14 सितंबर 2021 दोप. 2.34 बजे वक्री गुरु पुन: मकर में
  • 18 अक्टूबर 2021 प्रात: 11.02 बजे मार्गी
  • 20 नवंबर 2021 रात्रि 11.15 बजे मार्गी गुरु पुन: कुंभ में
  • 23 फरवरी 2022 सायं 7.00 बजे गुरु अस्त पश्चिम में
  • 13 अप्रैल 2022 सायं 4.58 बजे कुंभ से मीन में प्रवेश

120 दिन वक्री रहेंगे बृहस्पति

बृहस्पति 20 जून से 18 अक्टूबर 2021 तक 120 दिन वक्री अवस्था में रहेंगे। इससे शुभ प्रभाव में कमी आएगी। इस शुभ ग्रह के वक्री अवस्था में आने के दौरान पृथ्वी और पर्यावरण प्रभावित होंगे। आंधी-तूफान, भूस्खलन, जल प्लवन, समुद्री हलचल, भूगर्भीय हलचल भी देखने को मिल सकती है।

राशियों पर प्रभाव

  • मेष : बृहस्पति एकादश में प्रवेश करेगा। मान-सम्मान, पद-प्रतिष्ठा आय में वृद्धि होगी। पुराने साधन कम होंगे, नए बनेंगे।
  • वृषभ : खर्च में वृद्धि होगी। कुछ प्रतिकूल परिस्थितियां आ सकती हैं। नौकरी-बिजनेस में तरक्की के योग बनेंगे।
  • मिथुन : भाग्य का साथ मिलेगा। शुभ कार्य होंगे। प्रत्येक कार्य में सफलता, सम्मान, पद मिलेगा। संतान सुख मिलेगा।
  • कर्क : लाभ की स्थिति बनेगी। आय के नए स्रोत बनेंगे, परिवार में मांगलिक प्रसंग आएंगे। स्वास्थ्य सुख मिलेगा।
  • सिंह : पारिवारिक जीवन सुखद रहेगा। आय बढ़ेगी। खर्च भी बढ़ेगा। अवसरों का लाभ उठाएंगे। सेहत में सुधार आएगा।
  • कन्या : पारिवारिक कलह, आय में कमी होगी। शत्रु हावी रहेंगे। स्वास्थ्य का ध्यान रखें। नौकरी में बदलाव होगा।
  • तुला : संतान की ओर से शुभ समाचार मिलेगा। शिक्षा के क्षेत्र में सफलता। आय प्रभावित होगी। रोग परेशान करेंगे।
  • वृश्चिक : खर्च में बेतहाशा वृद्धि होगी। आय के साधन कम रहेंगे। नौकरी-बिजनेस में बदलाव संभव है। कार्यो में ठहराव आएगा।
  • धनु : भाई-बहनों से तालमेल बनेगा। पैतृक संपत्ति की प्राप्ति होगी। आय के नए साधन आएंगे। नौकरी में प्रमोशन।
  • मकर : वाणी का लाभ उठाएंगे। धनागम के साधन प्राप्त रहेंगे। बिजनेस में लाभ, नौकरी में प्रमोशन। विवाह सुख प्राप्त होगा।
  • कुंभ : सेहत का ध्यान रखें। कार्य बाधा दूर होगी। पैसों का आगमन होगा। प्रतिष्ठा और सम्मान में वृद्धि होगी।
  • मीन : खर्च वृद्धि होगी। शत्रु से पीड़ा, स्वजनों से मतभेद होंगे। आय प्रभावित होगी। नौकरी-बिजनेस में तरक्की होगी।

क्या उपाय करें

प्रत्येक राशि के जातक बृहस्पति के शुभ प्रभावों में वृद्धि के लिए भगवान नारायण की पूजा करें। गुरुवार को पीले पुष्प और शुद्ध घी से बनी मिठाई का नैवेद्य लगाएं। रविवार को विष्णु सहस्त्रनाम का पाठ करें।पीपल के पेड़ में नित्य जल अर्पित करें। संभव हो तो गुरुवार के व्रत करें। पूर्णिमा के दिन सत्यनारायण व्रत करें।

यह पढ़ें: April 2021 festivals List: यहां है अप्रैल महीने के त्योहार और व्रतों की पूरी लिस्ट

Oneindia की ब्रेकिंग न्यूज़ पाने के लिए . पाएं न्यूज़ अपडेट्स पूरे दिन.

Allow Notifications

You have already subscribed

oneindia

Leave a Comment