Covid19: ‘वी फॉर वायरस’ और ‘वैक्सीन’ किताब से बच्चों को समझाएं कोरोना और वैक्सीन के बारे में


‘वी फॉर वैक्सीन’ किताब से आप बच्चों को कोरोना और वैक्सीन के बारे में आसानी से समझा सकते हैं
Image Credit: harpercollins.co.in

V For Vaccine: बच्चों के लिए वैक्सीन की मेमोरी हमेशा सुई की चुभन से जुड़ी होती है. कोरोना काल में उन्हें उनकी भाषा में वैक्सीन की एबीसीडी और उसकी अहमियत समझाना अब ‘वी फॉर वैक्सीन’ किताब आसान बना देगी.

अगर किसी से पूछा जाए कि पिछले कुछ महीनों से उन शब्दों के बारे में बताएं जो हर किसी के जुबान पर हैं,तो बगैर शक हर किसी के मुंह से कोविड-19 वैक्सीन ही निकलेगा. जब अधिकतर बच्चों के लिए,टीकाकरण (Vaccination) शब्द का मतलब बहुत ही दर्द भरा रहा हो,जिसमें उनके लिए बस केवल चुभन और सुइयों की यादें शामिल हों. तो इनमें से बहुतों को यह बताना जरूरी है कि वैक्सीन क्यों बनती है और इसके क्या फायदे हैं. इस तरह के मिथकों को बच्चों के मासूम जेहन में साफ करने के लिए एक नई किताब- वी फॉर वैक्सीन: ए वन-शॉट इंट्रोडक्शन टू वैक्सीन (V for Vaccine: A One-Shot Introduction to Vaccines) आई हैं. वैक्सीन के ए से जेड के बारे में यह अनूठी स्टोरी बुक ‘वी फॉर वैक्सीन’(V for Vaccine) जीवंत चित्रण (Illustrations) और आसानी से समझ में आने वाले फॉर्मेट के साथ ही बच्चों को वैक्सीन लगाने की चुभन और दर्द से परे सोचने के लिए मजबूर करने के मकसद से लिखी गई हैं.

जानें वी फॉर वैक्सीन बुकः  

हार्पर कॉलिंस चिल्ड्रन्स बुक्स ने इस किताब को पब्लिश किया है. यह वाइब्रेंट इलुस्ट्रेशन और सवाल-जवाब के फॉर्मेट में हैं. वी फॉर वैक्सीन में बच्चों को वैक्सीन के बारे में उन्ही की तरह से समझाने और बताने की कोशिश की गई है. इसमें वेनी, विदी और विकी इन तीन कैरेक्टर्स से बच्चों का इंट्रोडक्शन कराया गया है. ये तीनों कैरेक्टर स्पोर्ट्स,किताबों और खाने से प्यार करते हैं, लेकिन उनमें से अधिकतर को वी – लेटर से से शुरू होने वाली चीजों के बारे में बात करना बेहद पसंद है. इस किताब के इलुस्ट्रेशन बनाने वाली ईशा नागर के मुताबिक यह किताब हार्पर कॉलिन्स चिल्ड्रन बुक्स की पब्लिशर टीना नारंग का आईडिया था. उन्होंने महसूस किया कि पैनडेमिक के इस दौर में यह एक बेहद सटीक सबजेक्ट है जिसके बारे में बच्चों को जानना-समझना चाहिए. और इस तरह से यह अहम जानकारी बच्चों के लिए आसानी से सुलभ हो सकती है.

ये भी पढ़ेंःबच्चा बात-बात में करता है जिद्द और गुस्‍सा? ये टिप्‍स करेंगे आपकी मदद

तीन मॉनस्टर देते हैं वैक्सीन की जानकारीः 

कोरोना पैनडेमिक के दौर में किताब के ये तीन किरदार वेनी, विदी और विकी जो हम सह के, देख के आए हैं, जो हमने झेला है और जिस पर हमने जीत हासिल की है उसके साथ खड़े नजर आते हैं. यह लेटर वी पर एक तरह का प्ले भी है.इसमें मुख्य किरदारों को बच्चों के रूप में दिखाने की जगह मॉन्स्टर (Monsters) के तौर पर दिखाया गया है. किताब पब्लिश करने वालों को लगा कि बच्चे इन जीवंत किरदारों से खुद को बेहतर रिलेट कर सकते हैं. इसकी तुलना में कि बच्चों की वैक्सीनेशन की वास्तविक तस्वीरें उनके लिए बहुत डरावनी हो सकती हैं.

ये भी पढ़ेंःबच्चा बनेगा बेहतर इंसान, ये 10 पेरेंटिंग टिप्स करेंगे आपकी मदद  

वैक्सीन क्या है तस्वीरों से बतायाः

इस किताब में बच्चों को एक आसान फॉर्मेट के जरिए वैक्सीन, एंटीजन (Antigens) और कोविड -19 के बारे में बच्चों की जिज्ञासा को शांत करने कोशिश की गई है. इसमें वैक्सीन क्या है जैसे सवालों के साथ इस तरह के तस्वीरें बना कर दी गई हैं कि बच्चे आसानी से इसे समझ सकें. मसलन बॉक्सिंग रिंग में वैक्सीन को बुरे जर्म से लड़ते हुए चित्रित किया गया है. वी फॉर वैक्सीन में सरल शब्दों में बच्चों एंटीबॉडी (Antibodies) के बारे में भी बताया गया है – जब हानिकारक पदार्थ हमारे शरीर में प्रवेश करते हैं, तो प्रतिरक्षा प्रणाली (Immune System ) एंटीबॉडी जैसे पदार्थों का पैदा कर उनकी पहचान करती है.

बच्चों को एंटीबॉडीज प्रोटीन के बारे में बताने के लिए इन्हें वाई जैसे छोटे शेप के सुपरहीरो के तौर पर दिखाया गया है. इस किताब में वेल्लोर के क्रिश्चियन मेडिकल कॉलेज में गैस्ट्रोइंटेस्टाइनल साइंसेज डिवीजन वेलकम ट्रस्ट रिसर्च लेबोरेटरी में माइक्रोबायोलॉजी के प्रोफेसर डॉक्टर गगनदीप कंग से भी इनपुट दिए गए हैं.







news18

Leave a Comment