Covid-19 Case Hike In India: पूरे देश में दोगुनी रफ्तार से क्यों बढ़ता जा रहा है कोरोना? जानिए विशेषज्ञों की राय

नई दिल्ली
भारत में कोरोना की दूसरी लहर से सरकार से लेकर आम इंसान तक सभी को परेशान कर दिया है। दिल्ली, महाराष्ट्र, केरल, तमिलनाडु,केरल, कर्नाटक और मध्य प्रदेश तक मामले दोगुनी रफ्तार के साथ बढ़ रहे हैं। दिल्ली में गुरुवार को कोरोना के 2,790 नए मामले आए जो इस साल एक दिन में आए मामलों में सबसे अधिक है। स्वास्थ्य विभाग ने बताया कि इस दौरान 9 और मरीजों की संक्रमण से मौत हुई है। महाराष्ट्र में बृहस्पतिवार को कोविड-19 के 43,183 नए मामले आने से संक्रमितों की संख्या 28,56,163 हो गई। देशभर में कोरोना दूसरी लहर के बीच आइये जानते हैं कि विशेषज्ञों का क्या कहना है।

विशेषज्ञों की राय
जसलोक अस्पताल के डॉक्टर राजेश पारीक का कहना है कि सबसे पहले तो लोगों की गलती हैं कि वो कोरोना की गाइडलाइंस फॉलो नहीं कर रहे हैं। मास्क नहीं पहन रहे। बाजारों में भीड़ लग रही है। इसके अलावा एक और बड़ा कारण है कि ये वायरस म्यूटेट हो रहा है। वायरस दो या तीन वैरियंट में म्यूटेट हुआ है जिसकी वजह से मामले तेजी से बढ़ते जा रहे हैं। उन्होंन कहा कि इनमें से एक या दो ऐसे कोरोना के अवतार है जोकि बॉडी में एंडीबॉडी होने के बावजूद आपको संक्रमित कर सकते हैं।

म्यूटेशन की वजह से कोरोना बढ़ा
ब्राउन यूनिवर्सिटी स्कूल ऑफ पब्लिक हेल्थ के डीन डॉक्टर आशीष कुमार झा ने कहा कि भारत में कोरोना के रेकॉर्ड मामले के बीच सबसे बड़ा कारण है कि यहां पर कोरोना के नए वैरियंट पहुंच चुके हैं। जोकि तेजी से प्रभावी हो रहे हैं। उन्होंने कहा कि लॉकडाउन लगाना कोई उपाय नहीं है। इससे देश के अर्थव्यवस्था पर बुरा प्रभाव पड़ता है। इसके अलावा उन्होंने कहा कि वैक्सीन भी कुछ वैरियंट में प्रभावी नहीं है। जैसे साउथ अफ्रीका से आए वैरियंट पर कोविशील्ड नहीं है।

लोगों की लापरवाही भी जिम्मेदार
एम्स कोविड सेंटर के हेड राजेश मल्होत्रा का कहना है कि पिछले दो हफ्तों में दोगुने से ज्यादा केस बढ़ गए हैं। ये बहुत ही चिंतनीय बात है। उन्होंने कहा कि मामले हर दिन में दूसरे दिन की तुलना में 60 से 70 प्रतिशत मामले बढ़ रहे हैं। उन्होंने कहा कि ये मामले बढ़ने का कारण लोगों की लापरवाही और कोरोना के नए वैरियंट दोनों ही हैं।

लॉकडाउन या कुछ और? कोरोना के खिलाफ आज बड़ा ऐक्‍शन… दिल्‍ली, यूपी और महाराष्‍ट्र कर रहे मंथन
महाराष्‍ट्र में कोरोना बेकाबू
कोविड-19 से सबसे बुरी तरह प्रभावित महाराष्‍ट्र में राज्‍यव्‍यापी लॉकडाउन की संभावनाएं प्रबल होती जा रही हैं। इस संबंध में शुक्रवार को सीएम उद्धव ठाकरे की स्‍वास्‍थ्‍य विभाग के अधिकारियों संग एक अहम बैठक होनी है। ठाकरे पहले भी दोबारा लॉकडाउन की चेतावनी दे चुके हैं। इसी रविवार से राज्‍य में नाइट कर्फ्यू की शुरुआत की गई है। अधिकारियों के अनुसार, भले ही पूरी तरह लॉकडाउन न हो मगर रेस्‍तरां, होटल्‍स, थियेटर्स को बंद रखने के आदेश दिए जा सकते हैं।

दिल्ली में चार महीने में पहली बार एक्टिव केस 10 हजार के पार, एक दिन में करीब 3000 नए मामले

दिल्‍ली में केजरीवाल की इमर्जेंसी मीटिंग
मुख्‍यमंत्री अरविंद केजरीवाल शुक्रवार को कोविड-19 के सिलसिले में एक इमर्जेंसी मीटिंग की। इसमें स्‍वास्‍थ्‍य मंत्री सत्‍येंद्र जैन के अलावा अन्‍य महत्‍वपूर्ण अधिकारी मौजूद रहे। दिल्‍ली में ऐक्टिव केस 10 हजार से ज्‍यादा हो गए हैं। सीएम केजरीवाल ने लॉकडाउन के विकल्प को सिरे से खारिज कर दिया है। पिछले कुछ दिनों से यहां लगातार केसेज की संख्‍या बढ़ रही है। हालांकि जैन ने पिछले हफ्ते लॉकडाउन की संभावनाओं से इनकार किया था मगर बढ़ते मामलों को देखते हुए कुछ पाबंदियां लगाए जाने की संभावना ज्‍यादा है।

Source link

Leave a Comment