CBSE और शिक्षा मंत्रालय की बैठक में बोर्ड एग्जाम 2021 पर हुई चर्चा, कैंसिल करने को लेकर नहीं हुआ कोई फैसला

देश में कोविड-19 की दूसरी लहर में तेजी से मामले बढ़ रहे हैं. बीते तीन दिन से डेढ़ लाख से ज्यादा कोरोना संक्रमण के मामले सामने आ रहे हैं. मौजूदा हालात को देखते हुए महाराष्ट्र राज्य में 10वीं और 12वीं की बोर्ड परीक्षाएं रद्द कर दी गई हैं. वहीं दिल्ली सरकार ने भी केंद्र सरकार से सीबीएसई की बोर्ड परीक्षाओं को रद्द करने की अपील की है. लेकिन शिक्षा मंत्रालय सीबीएसई की 10वीं और 12वीं की परीक्षाओं को रद्द करने को लेकर सुस्त नजर आ रहा है. हालांकि केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (CBSE) और शिक्षा मंत्रालय ने एक बैठक भी की है जिसमें बोर्ड परीक्षा आयोजित करने के कई पहलुओं पर चर्चा की गई है.

बोर्ड परीक्षाएं रद्द करने को लेकर अंतिम निर्णय आना बाकी

शिक्षा मंत्रालय के सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक फिलहाल बोर्ड परीक्षाएं रद्द करने की कोई योजना नहीं है. हालांकि बैठक में सीबीएसई बोर्ड परीक्षा 2021 को स्थगित करने पर चर्चा हुई है. लेकिन इस पर कोई फैसला नहीं हो पाया है और अभी इस मामले पर अंतिम निर्णय नहीं लिया गया है. गौरतलब है कि सीबीएसई की बोर्ड परीक्षाएं मई में आयोजित होनी हैं. हालांकि, जब से देश में कोरोना संक्रमण के मामले बढ़ रहे हैं, मंत्रालय इन परीक्षाओं को आयोजित करने के बारे में पुनर्विचार कर रहा है. ताजा COVID से संबंधित दिशानिर्देश भी जारी होने की उम्मीद है.

राहुल गांधी और प्रियंका गांधी ने भी बोर्ड परीक्षाएं रद्द करने की मांग की है

वहीं लंबे समय से सीबीएसई बोर्ड की परीक्षाएं स्थगित करने की मांग की जा रही है. बोर्ड परीक्षाओं को रद्द करने या स्थगित करने के लिए छात्रों और अभिभावकों का एक बड़ा वर्ग ट्विटर पर पर भी कैंपेन चला रहा है. इतना ही नहीं राहुल गांधी, प्रियंका गांधी वाड्रा सहित कई नेताओं ने भी बोर्ड परीक्षाएं रद्द करने की मांग की है.

महाराष्ट्र बोर्ड ने अपनी बोर्ड परीक्षाएं रद्द कर दी हैं

गौरतलब है कि महाराष्ट्र बोर्ड ने हाल ही में अपनी बोर्ड परीक्षाओं को स्थगित कर दिया है साथ ही सीबीएसई, आईसीएसई, आईबी, कैम्ब्रिज बोर्ड को भी परीक्षा की तारीखों पर पुनर्विचार करने का अनुरोध किया है. वहीं शिवसेना नेता अरविंद सावंत ने शिक्षा मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक को पत्र लिखकर राज्यों और बोर्डों में कक्षा 10 और 12 की बोर्ड परीक्षा के लिए एक समान नीति बनाने की मांग की है. सावंत ने कहा कि कोविड ​​-19 के बढ़ते मामलों के बीच, केंद्रीय शिक्षा मंत्रालय द्वारा यह सुनिश्चित करने के लिए एक सामान्य निर्णय लेने की आवश्यकता है कि कोई छात्र नुकसान में न हो.

वहीं MP बोर्ड, MSBHSHSE सहित कई अन्य बोर्ड ने COVID -19 के बढ़ते मामलों के कारण मई-जून में आयोजित होने वाली परीक्षा को स्थगित कर दिया है.

ये भी पढ़ें

CIL Recruitment 2021: कोल इंडिया लिमिटेड में 86 पदों पर निकली भर्तियां, ऐसे करें आवेदन

IAS Success Story: आईआईटी से पढ़ाई के बाद तेजस्वी ने यूपीएससी में कदम रखा, एक बार हुईं फेल, लेकिन नहीं मानी हार और बन गईं आईएएस

 

Education Loan Information:
Calculate Education Loan EMI

abp news

Categories Home

Leave a Comment