Assam EVM Uproar News: BJP उम्‍मीदवार की कार में EVM मिलने से चढ़ा राजनीतिक पारा, कृष्‍णेंदु पॉल का दावा- ‘यह मेरी गाड़ी ही नहीं’

हाइलाइट्स:

  • बीजेपी प्रत्‍याशी कृष्‍णेंदु पॉल की कार से ईवीएम मिलने के बाद तेज हुई राजनीति
  • पॉल का दावा यह उनकी गाड़ी नहीं है, भाई ने पोलिंग पार्टी की मदद के लिए दी
  • बीजेपी प्रत्‍याशी ने माना कि उनके भाई को ऐसा नहीं करना चाहिए था
  • कार में ईवीएम मिलने के बाद कांग्रेस ने बीजेपी और चुनाव आयोग पर साधा निशाना

गुवाहाटी
असम में विधानसभा चुनाव के दूसरे चरण का मतदान (Assam Assembly Polls) हो चुका है। यहां एक बीजेपी प्रत्‍याशी की कार से ईवीएम मिलने के बाद राजनीतिक पारा बढ़ गया है। कांग्रेस ने जहां बीजेपी और चुनाव आयोग के बीच सांठगांठ का आरोप लगाते हुए तीखा हमला किया है, वहीं बीजेपी उम्‍मीदवार कृष्‍णेंदु पॉल का दावा है कि यह उनकी गाड़ी ही नहीं है। इस मामले में कड़ा कदम उठाते हुए चुनाव आयोग ने 4 निर्वाचन अधिकारियों को सस्‍पेंड कर दिया है। इसके अलावा संबंधित पोलिंग बूथ पर फिर से वोटिंग कराने का फैसला लिया गया है।

‘मेरे भाई ने पोलिंग पार्टी की मदद के लिए दी गाड़ी’
हमारे सहयोगी न्‍यूज चैनल टाइम्‍स नाऊ से बातचीत में पथरकंडी से बीजेपी प्रत्‍याशी कृष्‍णेंदु पॉल ने दावा किया है कि यह कार उनकी पत्‍नी की है। गुरुवार शाम मतदान खत्‍म होने के बाद वह अपने घर चले गए थे। उनके भाई ने पोलिंग पार्टी की मदद करने के लिए यह गाड़ी उन्‍हें ईवीएम ले जाने के लिए दी थी। हालांकि, कृष्‍णेंदु पॉल ने ये स्‍वीकार किया कि उनके भाई को ऐसा नहीं करना चाहिए था। इसकी जगह कुछ और रास्‍ता निकाला जा सकता था। उन्‍होंने कहा कि गाड़ी में मिले ईवीएम उनके विधानसभा क्षेत्र के नहीं थे। उन्‍होंने कांग्रेस पर इस मुद्दे को लेकर दुष्‍प्रचार करने का आरोप लगाया है।

राहुल और प्रियंका गांधी ने जमकर चलाए तीर
गौरतलब है कि इस मामले में कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी और राहुल गांधी ने बीजेपी और चुनाव आयोग पर जमकर निशाना साधा है। राहुल गांधी ने कहा है कि बीजेपी की नीयत खराब है। वहीं प्रियंका ने कहा- ‘क्या स्क्रिप्ट है? चुनाव आयोग की गाड़ी खराब हुई, तभी वहां एक गाड़ी प्रकट हुई। गाड़ी बीजेपी के प्रत्याशी की निकली। मासूम चुनाव आयोग उसमें बैठ कर सवारी करता रहा। प्रिय चुनाव आयोग, माजरा क्या है? आप देश को इस पर कुछ सफाई दे सकते हैं?’ कांग्रेस ने बीजेपी उम्मीदवार की योग्यता खारिज करने की मांग की है।

BJP प्रत्याशी की कार में EVM, पीठासीन अधिकारी समेत 4 सस्पेंड, बूथ नंबर 149 पर फिर होगा मतदान

सड़क हादसे का शिकार हो गई थी पोलिंग पार्टी: चुनाव आयोग
दरअसल, इस पूरे मामले पर हंगामा मचने के बाद चुनाव आयोग ने स्‍पष्‍टीकरण दिया था। आयोग ने बताया था कि दूसरे चरण के चुनाव के बाद गुरुवार रात रताबरी (एससी) सीट की पोलिंग पार्टी 149-इंदिरा एमवी स्कूल सड़क हादसे का शिकार हो गई थी। इस पार्टी में एक पीठासीन अधिकारी और 3 चुनाव कर्मी शामिल थे। एक कॉन्स्टेबल और होमगार्ड की उपस्थिति में वे ईवीएम ले जा रहे थे। रात 9 बजकर 20 मिनट पर पोलिंग पार्टी ने वहां से गुजर रही एक गाड़ी से मदद मांगी और बिना कागजात चेक किए ईवीएम के साथ उस पर सवार हो गए।

असम में बीजेपी उम्मीदवार की कार से ईवीएम बरामद! कांग्रेस की चुनाव आयोग से जांच की मांग

‘भीड़ ने गाड़ी घेर ली और आगे बढ़ने से रोक दिया’
चुनाव आयोग ने अपनी रिपोर्ट में कहा कि वे लोग करीमगंज की ओर बढ़े और रात 11 बजे कनईशील पहुंचे। यहां ट्रैफिक की वजह से गाड़ी की रफ्तार धीमी गई। इस बीच, उन्हें करीब 50 लोगों की भीड़ ने घेर लिया और उन पर पत्थर फेंके गए। भीड़ ने उनसे बद्तमीजी करनी शुरू कर दी और कार को आगे बढ़ने से रोक दिया।

भीड़ ने ईवीएम से छेड़छाड़ का लगाया आरोप
चुनाव आयोग के मुताबिक, जब गाड़ी में सवार पोलिंग पार्टी ने भीड़ से कारण पूछा तो उन्होंने बताया कि यह गाड़ी कृष्णेंदु पॉल की है जो पथरकंडी से चुनाव लड़ रहे हैं। लोगों ने आरोप लगाया कि ईवीएम को छेड़छाड़ के लिए ले जाया जा रहा है। पोलिंग पार्टी ने सेक्टर ऑफिसर को सूचित किया। इसके बाद भीड़ में मौजूद लोगों ने उन पर हमला किया और पोलिंग पार्टी को वाहन समेत बंधक बना लिया।

असम में राजनीतिक हलचल तेज

Source link

Leave a Comment