Accused Of Forcibly Land Registered In Return For Looting 32 Lakh Rupees In Gorakhpur – गोरखपुर: 32 लाख रुपये लूट जाने पर बदले में जबरन जमीन रजिस्ट्री कराने का आरोप


अमर उजाला ब्यूरो, गोरखपुर।
Updated Mon, 18 Jan 2021 11:56 AM IST

प्रतीकात्मक तस्वीर।
– फोटो : अमर उजाला

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

*Yearly subscription for just ₹299 Limited Period Offer. HURRY UP!

ख़बर सुनें

ख़बर सुनें

गोरखपुर शहर के एक कारोबारी के मुनीब के पुत्र ने 32 लाख रुपये लूट जाने पर बदले में पिता से जबरन जमीन रजिस्ट्री कराने का आरोप लगाया है। आरोप है कि पुलिस भी इसमें मददगार बनी है। मुनीब के पुत्र ने आईजीआरएस में शिकायत की है। एसएसपी ने मामले की जांच के निर्देश दिए हैं।  

उधर, पुलिस ने लूट की घटना से इनकार किया है। पुलिस का कहना है कि कारोबारी अपने मुनीब को लेकर थाने आए थे। उन्होंने मुनीब पर रुपये हड़पने का आरोप लगाया था। कारोबारी ने बताया कि रुपये मांगने पर मुनीब लूट की बात कह रहे हैं, लेकिन ऐसी कोई घटना नहीं हुई थी।

जानकारी के मुताबिक, आजाद चौक निवासी रणधीर मिश्र ने आईजीआरएस में शिकायत की है। रणधीर का कहना है कि उनके पिता कारोबारी के यहां 12 साल से मुनीब का काम करते हैं। बीते नौ जनवरी को कई जिले से वसूली कर 32 लाख रुपये लेकर लौट रहे थे। रात दस बजे रुस्तमपुर में उतरे और पैदल घर की ओर आ रहे थे कि बाइक सवार बदमाशों ने असलहा सटाकर रुपये लूट लिए।

सूचना देने पर कारोबारी अपने साथ पिता को लेकर थाने पहुंच गए। वहां पिता पर चोरी का आरोप लगाकर उनके साथ बदसलूकी की गई। रुपये के बदले कारोबारी ने पिता पर अपनी जमीन रजिस्ट्री करने का दबाव बनाया। 12 जनवरी को कारोबारी पिता और मां को साथ लेकर गए चौरीचौरा में जमीन को जबरन रजिस्ट्री करा ली।
 
इस संबंध में थानेदार रामगढ़ताल ने बताया कि लूट जैसी किसी घटना की सूचना नहीं मिली थी। एसएसपी जोगेंद्र कुमार ने बताया कि मामले की जांच कराकर कार्रवाई की जाएगी।

गोरखपुर शहर के एक कारोबारी के मुनीब के पुत्र ने 32 लाख रुपये लूट जाने पर बदले में पिता से जबरन जमीन रजिस्ट्री कराने का आरोप लगाया है। आरोप है कि पुलिस भी इसमें मददगार बनी है। मुनीब के पुत्र ने आईजीआरएस में शिकायत की है। एसएसपी ने मामले की जांच के निर्देश दिए हैं।  

उधर, पुलिस ने लूट की घटना से इनकार किया है। पुलिस का कहना है कि कारोबारी अपने मुनीब को लेकर थाने आए थे। उन्होंने मुनीब पर रुपये हड़पने का आरोप लगाया था। कारोबारी ने बताया कि रुपये मांगने पर मुनीब लूट की बात कह रहे हैं, लेकिन ऐसी कोई घटना नहीं हुई थी।

जानकारी के मुताबिक, आजाद चौक निवासी रणधीर मिश्र ने आईजीआरएस में शिकायत की है। रणधीर का कहना है कि उनके पिता कारोबारी के यहां 12 साल से मुनीब का काम करते हैं। बीते नौ जनवरी को कई जिले से वसूली कर 32 लाख रुपये लेकर लौट रहे थे। रात दस बजे रुस्तमपुर में उतरे और पैदल घर की ओर आ रहे थे कि बाइक सवार बदमाशों ने असलहा सटाकर रुपये लूट लिए।

सूचना देने पर कारोबारी अपने साथ पिता को लेकर थाने पहुंच गए। वहां पिता पर चोरी का आरोप लगाकर उनके साथ बदसलूकी की गई। रुपये के बदले कारोबारी ने पिता पर अपनी जमीन रजिस्ट्री करने का दबाव बनाया। 12 जनवरी को कारोबारी पिता और मां को साथ लेकर गए चौरीचौरा में जमीन को जबरन रजिस्ट्री करा ली।

 

इस संबंध में थानेदार रामगढ़ताल ने बताया कि लूट जैसी किसी घटना की सूचना नहीं मिली थी। एसएसपी जोगेंद्र कुमार ने बताया कि मामले की जांच कराकर कार्रवाई की जाएगी।



Source link

Leave a Comment