4 लाख रुपये लगाकर घर बैठे शुरू करें ये बिजनेस, हर साल होगी 8 लाख रुपये की कमाई!

शुरू करें ये शानदार बिजनेस

अगर आप बिजनेस (Business) करना चाहते हैं तो यह खबर आपके लिए है. यह एक ऐसा बिजनेस है जिसे कम लागत (Low Investment) में शुरू किया जा सकता है और इस बिजनेस में मुनाफा (Profit) भी ज्यादा है.

नई दिल्ली. अगर आप बिजनेस (Business) करना चाहते हैं तो यह खबर आपके लिए है. यह एक ऐसा बिजनेस है जिसे कम लागत (Low Investment) में शुरू किया जा सकता है और इस बिजनेस में मुनाफा (Profit) भी ज्यादा है. आप लगभग 4 लाख रुपये के निवेश में खरगोश पालन (Rabbit Farming) का बिजनेस शुरू कर सकते हैं. यह बिजनेस इसलिए फायदेमंद है क्योंकि बाजार में खरगोश के मांस की ज्यादा कीमत मिलती है. वहीं इसके बालों से बनने वाली ऊन के लिए पाला जाता है. आइए जानते हैं छोटे पैमाने पर किस तरह आप खरगोश पालन कर नियमित कमाई कर सकते हैं.

4 लाख रुपये तक आएगा खर्च- खरगोश पालन के इस बिजनेस को यूनिट में बांटा गया है. एक यूनिट में सात मादा और तीन नर खरगोश होते हैं. मान लें फार्मिंग के लिए शुरुआती स्तर 10 यूनिट का रखा है तो इसके लिए लगभग 4 लाख से 4.50 लाख रुपये खर्च आता है. इसमें टिन शेड लगभग 1 से 1.50 लाख रुपये, पिंजड़े 1 से 1.25 लाख रुपये, चारा और इन यूनिट्स पर लगभग 2 लाख रुपये खर्च शामिल हैं.

नर और मादा खरगोश लगभग 6 महीने के बाद ब्रीडिंग के लिए तैयार होते हैं. एक मादा खरगोश एक बार में 6 से 7 बच्चों को जन्म देती है. मादा खरगोश का प्रेगनेंसी पीरियड 30 दिन का होता है और इसके अगले 45 दिनों में बच्चा लगभग 2 किलोग्राम का होने के बाद बिकने के लिए तैयार हो जाता है.ऐसे होगी कमाई- एक मादा खरगोश से औसतन 5 बच्चे हुए तो इस तरह 45 दिनों में 350 बच्चे बनेंगे. खरगोश की यूनिट बच्चे पैदा लायक होती है. इनमें 6 महीने का इंतजार की भी जरूरत नहीं होती. 10 यूनिट खरगोश से 45 दिनों में तैयार हुआ बच्चों का बैच लगभग 2 लाख रुपये में बिकता है. इन्हें फार्म ब्रीडिंग, मीट और ऊन व्यवसाय के लिए बेचा जाता है और एक मादा खरगोश सालभर में कम से कम 7 बार बच्चे देती है.

ये भी पढ़ें: Indian Railways: रेलवे ने इस ट्रेन की टाइमिंग में किया बदलाव, स्टेशन जानें पहले देखें लिस्ट 

लेकिन मोर्टेलिटी, बीमारी आदि सभी को ध्यान में रखकर औसतन 5 प्रेगनेंसी पीरियड मानकर चलें तो सालभर में 10 लाख रुपये के खरगोश बिक जाते हैं जबकि चारे पर खर्च 2 से 3 लाख रुपये मान लें तो 7 लाख रुपये नेट प्रॉफिट कमाया जा सकता है. हालांकि शुरू के साल में कुल 4.50 लाख रुपये की इन्वेस्टमेंट को इसमें निकालकर चलें तब भी 3 लाख रुपये की आमदनी होती है.

फ्रेंचाइजी लेकर भी शुरू कर सकते हैं बिजनेस- अगर ज्यादा रिस्क लेने की क्षमता ना हो तो कई बड़े फार्म से फ्रेंचाइजी लेने का विकल्प नए लोगों के पास है. इसके माध्यम से खरगोश ब्रीडिंग से लेकर मार्केटिंग तक सभी तरह की ट्रेनिंग दी जाएगी.





function nwPWAScript(){ var PWT = {}; var googletag = googletag || {}; googletag.cmd = googletag.cmd || []; var gptRan = false; PWT.jsLoaded = function() { loadGpt(); }; (function() { var purl = window.location.href; var url="//ads.pubmatic.com/AdServer/js/pwt/113941/2060"; var profileVersionId = ''; if (purl.indexOf('pwtv=') > 0) { var regexp = /pwtv=(.*?)(&|$)/g; var matches = regexp.exec(purl); if (matches.length >= 2 && matches[1].length > 0) { profileVersionId = "https://hindi.news18.com/" + matches[1]; } } var wtads = document.createElement('script'); wtads.async = true; wtads.type="text/javascript"; wtads.src = url + profileVersionId + '/pwt.js'; var node = document.getElementsByTagName('script')[0]; node.parentNode.insertBefore(wtads, node); })(); var loadGpt = function() { // Check the gptRan flag if (!gptRan) { gptRan = true; var gads = document.createElement('script'); var useSSL = 'https:' == document.location.protocol; gads.src = (useSSL ? 'https:' : 'http:') + '//www.googletagservices.com/tag/js/gpt.js'; var node = document.getElementsByTagName('script')[0]; node.parentNode.insertBefore(gads, node); } } // Failsafe to call gpt setTimeout(loadGpt, 500); }

// this function will act as a lock and will call the GPT API function initAdserver(forced) { if((forced === true && window.initAdserverFlag !== true) || (PWT.a9_BidsReceived && PWT.ow_BidsReceived)){ window.initAdserverFlag = true; PWT.a9_BidsReceived = PWT.ow_BidsReceived = false; googletag.pubads().refresh(); } }

function fb_pixel_code() { (function(f, b, e, v, n, t, s) { if (f.fbq) return; n = f.fbq = function() { n.callMethod ? n.callMethod.apply(n, arguments) : n.queue.push(arguments) }; if (!f._fbq) f._fbq = n; n.push = n; n.loaded = !0; n.version = '2.0'; n.queue = []; t = b.createElement(e); t.async = !0; t.src = v; s = b.getElementsByTagName(e)[0]; s.parentNode.insertBefore(t, s) })(window, document, 'script', 'https://connect.facebook.net/en_US/fbevents.js'); fbq('init', '482038382136514'); fbq('track', 'PageView'); }

New 18

Categories Uncategorized

Leave a Comment