सुशांत सिंह डेथ केस: सुशांत की बहन प्रियंका सिंह की याचिका बॉम्बे HC में खारिज, उनके फैमिली वकील बोले-हम अब सुप्रीम कोर्ट जाएंगे

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

43 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

बॉम्बे हाईकोर्ट ने सोमवार को सुशांत सिंह राजपूत की बहन प्रियंका सिंह के खिलाफ FIR रद्द करने से इनकार कर दिया। हालांकि, कोर्ट ने दिवंगत एक्टर की दूसरी बहन मीतू सिंह के खिलाफ दर्ज FIR निरस्त करने के आदेश दिए। प्रियंका के खिलाफ दर्ज FIR रद्द न करने पर सुशांत के फैमिली वकील ने कहा है कि अब हम बॉम्बे हाईकोर्ट के आदेश को सुप्रीम कोर्ट में चुनौती देंगे।

प्रियंका के लिए सुप्रीम कोर्ट जाएंगे
माधव थोराट ने पिंकविला से कहा, “बॉम्बे हाईकोर्ट के आदेश को पढ़ने के बाद हम तय करेंगे कि हमें किस पायदान पर आगे बढ़ना चाहिए और कितनी जल्दी हमें सर्वोच्च न्यायालय का दरवाजा खटखटाना चाहिए। लेकिन, हम निश्चित रूप से प्रियंका के लिए सुप्रीम कोर्ट जाएंगे।”

रिया के आंसुओं और सच्चाई की जीत हुई
वहीं रिया चक्रवर्ती के वकील सतीश मानशिंदे ने हाईकोर्ट के इस फैसले का स्वागत किया है। उन्होंने इसे रिया चक्रवर्ती के आंसुओं की जीत बताया। मानशिंदे ने कहा, “बॉम्बे हाईकोर्ट के जस्टिस शिंदे और जस्टिस कार्णिक ने प्रियंका सिंह द्वारा लगाई गई वह याचिका खारिज कर दी है, जिसमें उन्होंने रिया चक्रवर्ती द्वारा उनके खिलाफ जालसाजी और NDPS एक्ट के अंतर्गत दर्ज कराई गई FIR रद्द करने की मांग की थी। हम फैसले से संतुष्ट हैं। ऐसा लग रहा है कि न्याय और सच्चाई के लिए बहे रिया चक्रवर्ती के आंसुओं की जीत हुई है। सत्यमेव जयते।”

रिया ने तीन लोगों पर किया था केस
रिया चक्रवर्ती ने राम मनोहर लोहिया अस्पताल के डॉ. तरुण कुमार और सुशांत की दो बहनों प्रियंका और मीतू के खिलाफ मुंबई के बांद्रा पुलिस स्टेशन में केस दर्ज कराया था। तीनों पर फर्जी मेडिकल प्रिस्क्रिप्शन बनाकर सुशांत के लिए दवा देने का आरोप लगाया गया था। इस केस को सुशांत की बहनों ने ​नवंबर 2020 में बॉम्बे हाईकोर्ट में चुनौती दी थी। उन्होंने ‌वकील माधव थोराट के जरिए दाखिल की गई अर्जी में दावा किया था कि सुशांत के लिए दवाएं डॉक्टर ने ही लिखी थीं। उन्होंने कोई जुर्म नहीं किया है।

पिछले साल हुई थी सुशांत की मौत
सुशांत सिंह राजपूत का शव 14 जून 2020 को मुंबई के बांद्रा में उनके घर में पंखे से लटका मिला था। जांच में मुंबई पुलिस ने बताया था कि वे डिप्रेशन के शिकार थे और उन्‍होंने आत्महत्या की है। हालांकि, इस पूरे मामले में कई महीनों तक विवाद जारी रहा। मौत के 15 दिन बाद सुशांत के पिता कृष्ण कुमार सिंह ने रिया चक्रवर्ती पर उनके बेटे को आत्महत्या के लिए उकसाने और उनके बैंक खाते से 15 करोड़ रुपए की हेराफेरी का आरोप लगाते हुए पटना में FIR कराई थी। बिहार सरकार की अर्जी के बाद सुप्रीम कोर्ट ने मामले की जांच CBI को सौंप दी थी, जो अभी तक किसी निष्कर्ष पर नहीं पहुंची है।

Dainic Bhaskar

Leave a Comment