वाराणसी : मनमाने दाम पर रेमडेसिविर इंजेक्शन बेच रहे बीएचयू के छात्र सहित तीन गिरफ्तार

{“_id”:”6088e15384823768c70a3787″,”slug”:”three-arrested-including-bhu-student-selling-remdesivir-injections-at-arbitrary-price-in-varanasi”,”type”:”feature-story”,”status”:”publish”,”title_hn”:”u0935u093eu0930u093eu0923u0938u0940 : u092eu0928u092eu093eu0928u0947 u0926u093eu092e u092au0930 u0930u0947u092eu0921u0947u0938u093fu0935u093fu0930 u0907u0902u091cu0947u0915u094du0936u0928 u092cu0947u091a u0930u0939u0947 u092cu0940u090fu091au092fu0942 u0915u0947 u091bu093eu0924u094du0930 u0938u0939u093fu0924 u0924u0940u0928 u0917u093fu0930u092bu094du0924u093eu0930″,”category”:{“title”:”City & states”,”title_hn”:”u0936u0939u0930 u0914u0930 u0930u093eu091cu094du092f”,”slug”:”city-and-states”}}

अमर उजाला नेटवर्क, वाराणसी
Published by: शाहरुख खान
Updated Wed, 28 Apr 2021 09:45 AM IST

सार

वाराणसी में कोरोना वायरस के तेजी से बढ़ते हुए संक्रमण के बीच भी कुछ लोग जीवनरक्षक दवाओं को मननाने दाम पर बेच कर पैसा कमाने पर आमादा हैं। ऐसे ही दो अलग-अलग मामलों में बीएचयू के एक छात्र सहित तीन युवकों को क्राइम ब्रांच और भेलूपुर थाने की पुलिस ने मनमाने दाम पर तीन रेमडेसिविर इंजेक्शन बेचते हुए गिरफ्तार किया है। 

Remdesivir injections
– फोटो : सोशल मीडिया

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

ख़बर सुनें

ख़बर सुनें

वाराणसी में कोरोना वायरस के तेजी से बढ़ते हुए संक्रमण के बीच भी कुछ लोग जीवनरक्षक दवाओं को मननाने दाम पर बेच कर पैसा कमाने पर आमादा हैं। ऐसे ही दो अलग-अलग मामलों में बीएचयू के एक छात्र सहित तीन युवकों को क्राइम ब्रांच और भेलूपुर थाने की पुलिस ने मनमाने दाम पर तीन रेमडेसिविर इंजेक्शन बेचते हुए गिरफ्तार किया है। दो आरोपियों को चेतगंज थाने और एक आरोपी को भेलूपुर थाने की पुलिस अदालत में पेश करने की तैयारी में है।

भेलूपुर थाना प्रभारी अमित कुमार मिश्रा को सूचना मिली थी कि एक युवक ककरमत्ता स्थित एक अस्पताल के सामने रेमडेसिविर इंजेक्शन मनमाना दाम पर बेचने की बात कर रहा है। सूचना के आधार पर भेलूपुर इंस्पेक्टर ने महमूरगंज चौकी इंचार्ज अनुज तिवारी के साथ घेरेबंदी कर उस युवक को एक रेमडेसिविर इंजेक्शन के साथ पकड़ा। पूछताछ में उसने खुद को दाउदपुर गंगापुर निवासी सुनील कुमार पटेल बताया। 

सुनील ने बताया कि वह काफी पहले छह रेमडेसिविर इंजेक्शन खरीदा था। पांच इंजेक्शन वह बेच चुका है और छठे को 20 हजार रुपये में बेचने के लिए आया था, लेकिन उससे पहले ही पकड़ा गया। सुनील ने बताया कि वह बीएचयू के सोशल साइंस फैकल्टी का बीए का छात्र है और ऑनलाइन क्लास करने के लिए पैसों की जरूरत की वजह से इंजेक्शन की कालाबाजारी कर रहा था।

उधर, क्राइम ब्रांच प्रभारी अश्वनी पांडेय को सूचना मिली कि लहुराबीर क्षेत्र में दो युवक 18-18 हजार रुपये में दो रेमडेसिविर इंजेक्शन बेच रहे हैं। इस सूचना के आधार पर क्राइम ब्रांच प्रभारी दोनों युवकों से बतौर ग्राहक संपर्क किए और अपनी टीम के हेड कांस्टेबल सुरेंद्र मौर्य के साथ घेरेबंदी कर दोनों को पकड़ लिए। 
गिरफ्त में आए जगतगंज निवासी मनु ने बताया कि उसका दोस्त कौशिक मंडुवाडीह रेलवे स्टेशन के सामने की कॉलोनी में रहता है। कौशिक ने उससे कहा था कि उसके परिवार में कोरोना पॉजिटिव हुए लोगों के लिए जरूरत पड़ने पर दोनों इंजेक्शन मंगवाए गए थे। अब जरूरत नहीं रही तो इन्हें बेच कर हम लोग कुछ मुनाफा कमा लें। इसी वजह से दोनों दो इंजेक्शन बेचने की फिराक में थे, लेकिन उससे पहले पकड़े गए।

क्राइम ब्रांच प्रभारी अश्वनी पांडेय ने आमजन से अपील की है कि यदि किसी को भी जीवनरक्षक दवाओं या ऑक्सीजन सिलिंडर की कालाबाजारी की सही व सटीक जानकारी हो तो वह निःसंकोच पुलिस को सूचना दें। सूचना देने वाले का नाम और पता गुप्त रख कर पुलिस प्रभावी तरीके से कार्रवाई करेगी। बस यह ध्यान रखना होगा कि सूचना गलत न हो।
 

विस्तार

वाराणसी में कोरोना वायरस के तेजी से बढ़ते हुए संक्रमण के बीच भी कुछ लोग जीवनरक्षक दवाओं को मननाने दाम पर बेच कर पैसा कमाने पर आमादा हैं। ऐसे ही दो अलग-अलग मामलों में बीएचयू के एक छात्र सहित तीन युवकों को क्राइम ब्रांच और भेलूपुर थाने की पुलिस ने मनमाने दाम पर तीन रेमडेसिविर इंजेक्शन बेचते हुए गिरफ्तार किया है। दो आरोपियों को चेतगंज थाने और एक आरोपी को भेलूपुर थाने की पुलिस अदालत में पेश करने की तैयारी में है।

भेलूपुर थाना प्रभारी अमित कुमार मिश्रा को सूचना मिली थी कि एक युवक ककरमत्ता स्थित एक अस्पताल के सामने रेमडेसिविर इंजेक्शन मनमाना दाम पर बेचने की बात कर रहा है। सूचना के आधार पर भेलूपुर इंस्पेक्टर ने महमूरगंज चौकी इंचार्ज अनुज तिवारी के साथ घेरेबंदी कर उस युवक को एक रेमडेसिविर इंजेक्शन के साथ पकड़ा। पूछताछ में उसने खुद को दाउदपुर गंगापुर निवासी सुनील कुमार पटेल बताया। 

सुनील ने बताया कि वह काफी पहले छह रेमडेसिविर इंजेक्शन खरीदा था। पांच इंजेक्शन वह बेच चुका है और छठे को 20 हजार रुपये में बेचने के लिए आया था, लेकिन उससे पहले ही पकड़ा गया। सुनील ने बताया कि वह बीएचयू के सोशल साइंस फैकल्टी का बीए का छात्र है और ऑनलाइन क्लास करने के लिए पैसों की जरूरत की वजह से इंजेक्शन की कालाबाजारी कर रहा था।

उधर, क्राइम ब्रांच प्रभारी अश्वनी पांडेय को सूचना मिली कि लहुराबीर क्षेत्र में दो युवक 18-18 हजार रुपये में दो रेमडेसिविर इंजेक्शन बेच रहे हैं। इस सूचना के आधार पर क्राइम ब्रांच प्रभारी दोनों युवकों से बतौर ग्राहक संपर्क किए और अपनी टीम के हेड कांस्टेबल सुरेंद्र मौर्य के साथ घेरेबंदी कर दोनों को पकड़ लिए। 

Amarujala

Leave a Comment