रोहतक हत्याकांडः कुश्ती सीख रहे बच्चों के सामने अपमानित किए जाने से अवसाद में था सुखविंदर, आरोपी ने किए कई खुलासे

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

*Yearly subscription for just ₹299 Limited Period Offer. HURRY UP!

ख़बर सुनें

ख़बर सुनें

कुश्ती सीख रहे बच्चों के सामने अपमान और अखाड़े से निकाले जाने के चल से प्रयास को लेकर अवसाद में आकर आरोपी ने हत्या को अंजाम दिया था। रोहतक में मुख्य कोच मनोज मलिक सहित पांच लोगों की हत्या करने वाले सुखविंदर ने दिल्ली पुलिस के सामने खुलासा किया कि जिस अखाड़े को उसने अपने मेहनत से खड़ा किया वहीं से उसे निकालने का षड़यंत्र रचा जा रहा था। दिल्ली पुलिस ने आरोपी को अदालत में पेश करने के बाद तिहाड़ जेल भेज दिया है। सोमवार को रोहतक पुलिस ने उससे आगे की पूछताछ के लिए अदालत के जरिए उसे अपने हिरासत में ले लिया है। 

शनिवार को दिल्ली की समयपुर बादली इलाके में कार से घूम रहे आरोपी सुखविंदर को पुलिस ने गिरफ्तार किया था। उसके पास से एक पिस्टल और पांच कारतूस मिले। पूछताछ में सुखविंदर ने बताया कि एक दिन पहले उसने ही रोहतक के जाट कॉलेज अखाड़ा के मुख्य कोच, उसकी पत्नी समेत पांच लोगों की हत्या की थी। समयपुर बादली थाना पुलिस ने उसके खिलाफ शस्त्र अधिनियम के तहत मामला दर्ज कर लिया और रोहतक पुलिस को उसकी गिरफ्तारी की सूचना दी। 

दिल्ली पुलिस की शुरूआती पूछताछ में सुखविंदर ने बताया कि उसका जाट कॉलेज अखाड़े के मुख्य कोच मनोज ने विवाद चल रहा था। मनोज उसे वहां से हटाना चाहता था। इसके लिए वह उसपर कई तरह के आरोप लगवा रहा था। वह कुश्ती सीख रहे बच्चों के सामने उसका अपमान करता था। जिसकी वजह से वह अवसाद में आ गया था। 

कुछ दिन पहले उसकी मनोज से इसी बात को लेकर कहासुनी हो गयी थी। जिसमें उसने मनोज को अपने रवैये के नहीं बदलाव करने की सलाह दी थी। साथ ही खून खराबे की भी धमकी दी थी। सुखविंदर ने बताया कि मनोज को उसके पास हथियार होने की जानकारी थी। बावजूद वह अपनी हरकतों में कोई बदलाव नहीं किया। जिससे उसके पास उसकी हत्या करने के अलावा कोई चारा नहीं था। 

कुश्ती सीख रहे बच्चों के सामने अपमान और अखाड़े से निकाले जाने के चल से प्रयास को लेकर अवसाद में आकर आरोपी ने हत्या को अंजाम दिया था। रोहतक में मुख्य कोच मनोज मलिक सहित पांच लोगों की हत्या करने वाले सुखविंदर ने दिल्ली पुलिस के सामने खुलासा किया कि जिस अखाड़े को उसने अपने मेहनत से खड़ा किया वहीं से उसे निकालने का षड़यंत्र रचा जा रहा था। दिल्ली पुलिस ने आरोपी को अदालत में पेश करने के बाद तिहाड़ जेल भेज दिया है। सोमवार को रोहतक पुलिस ने उससे आगे की पूछताछ के लिए अदालत के जरिए उसे अपने हिरासत में ले लिया है। 

शनिवार को दिल्ली की समयपुर बादली इलाके में कार से घूम रहे आरोपी सुखविंदर को पुलिस ने गिरफ्तार किया था। उसके पास से एक पिस्टल और पांच कारतूस मिले। पूछताछ में सुखविंदर ने बताया कि एक दिन पहले उसने ही रोहतक के जाट कॉलेज अखाड़ा के मुख्य कोच, उसकी पत्नी समेत पांच लोगों की हत्या की थी। समयपुर बादली थाना पुलिस ने उसके खिलाफ शस्त्र अधिनियम के तहत मामला दर्ज कर लिया और रोहतक पुलिस को उसकी गिरफ्तारी की सूचना दी। 

दिल्ली पुलिस की शुरूआती पूछताछ में सुखविंदर ने बताया कि उसका जाट कॉलेज अखाड़े के मुख्य कोच मनोज ने विवाद चल रहा था। मनोज उसे वहां से हटाना चाहता था। इसके लिए वह उसपर कई तरह के आरोप लगवा रहा था। वह कुश्ती सीख रहे बच्चों के सामने उसका अपमान करता था। जिसकी वजह से वह अवसाद में आ गया था। 

कुछ दिन पहले उसकी मनोज से इसी बात को लेकर कहासुनी हो गयी थी। जिसमें उसने मनोज को अपने रवैये के नहीं बदलाव करने की सलाह दी थी। साथ ही खून खराबे की भी धमकी दी थी। सुखविंदर ने बताया कि मनोज को उसके पास हथियार होने की जानकारी थी। बावजूद वह अपनी हरकतों में कोई बदलाव नहीं किया। जिससे उसके पास उसकी हत्या करने के अलावा कोई चारा नहीं था। 

Hindustan

Leave a Comment