मतदान कर्मी कोरोना बचाव किट से होंगे लैस

ख़बर सुनें

ख़बर सुनें

अंबेडकरनगर। त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव में मतदान प्रक्रिया में लगाए गए 11 हजार 16 कर्मचारियों को कोरोना संक्रमण के चलते ग्लब्स, मास्क व सैनिटाइजर की किट दी जाएगी। मतदान केंद्रों पर कोरोना प्रोटोकाल का पूरी तरह पालन कराया जाएगा। मतदान के दौरान न सिर्फ सोशल डिस्टेंसिंग पर विशेष ध्यान दिया जाएगा, बल्कि प्रत्येक मतदेय स्थल पर सैनिटाइजर की भी व्यवस्था रहेगी।
29 अप्रैल को त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव के विभिन्न पदों के लिए होने वाले मतदान को सकुशल व शांतिपूर्ण ढंग से निपटाने के लिए शासन के निर्देश पर प्रशासन ने तैयारियां तेज कर दी हैं। बताते चलें कि इस बार पहली बार जिला पंचायत सदस्य, क्षेत्र पंचायत सदस्य, ग्राम पंचायत सदस्य व ग्राम प्रधान पद के लिए एक साथ मतदान होगा। मतदाताओं को किसी भी प्रकार की मुश्किल न हो, इसके लिए कुल 952 मतदान केंद्र व 2754 बूथ बनाए गए हैं। मतदान को सकुशल निपटाने के लिए कुल 2754 पोलिंग पार्टियां बनाई गई हैं। प्रत्येक पार्टी में चार कर्मचारी रहेंगे। ऐसे में कुल 11 हजार 16 कर्मचारियों पर मतदान प्रक्रिया को निपटाने की जिम्मेदारी होगी। इसके अलावा 2204 कर्मचारियों को रिजर्व में रखा गया है।
पूर्व में हुए चुनावों में मतदान में लगे कर्मचारियों को जो स्वास्थ्य किट दी जाती थी, उनमें सभी प्रकार की जरूरी दवाएं रहती थीं। इस बार कोविड-19 को देखते हुए पहली बार स्वास्थ्य किट के साथ कर्मचारियों को ग्लब्स, मास्क व सैनिटाइजर दिया जाएगा। ऐसे में इस बार त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव पर कोरोना के प्रकोप का साफ असर दिखेगा।
इसके अलावा जो कर्मचारी रिजर्व में रखे गई हैं, उन्हें भी यह सभी सामग्रियां उपलब्ध कराई जाएंगी। इतना ही नहीं, मतदान के दौरान प्रत्येक बूथ पर न सिर्फ सोशल डिस्टेंसिंग का पालन कराया जाएगा, बल्कि सैनिटाइजर की भी व्यवस्था रहेगी। मतदान कक्ष में जाने से पहले मतदाता को सैनिटाइज किया जाएगा। इसके बाद ही उन्हें प्रवेश करने दिया जाएगा।

अंबेडकरनगर। त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव में मतदान प्रक्रिया में लगाए गए 11 हजार 16 कर्मचारियों को कोरोना संक्रमण के चलते ग्लब्स, मास्क व सैनिटाइजर की किट दी जाएगी। मतदान केंद्रों पर कोरोना प्रोटोकाल का पूरी तरह पालन कराया जाएगा। मतदान के दौरान न सिर्फ सोशल डिस्टेंसिंग पर विशेष ध्यान दिया जाएगा, बल्कि प्रत्येक मतदेय स्थल पर सैनिटाइजर की भी व्यवस्था रहेगी।

29 अप्रैल को त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव के विभिन्न पदों के लिए होने वाले मतदान को सकुशल व शांतिपूर्ण ढंग से निपटाने के लिए शासन के निर्देश पर प्रशासन ने तैयारियां तेज कर दी हैं। बताते चलें कि इस बार पहली बार जिला पंचायत सदस्य, क्षेत्र पंचायत सदस्य, ग्राम पंचायत सदस्य व ग्राम प्रधान पद के लिए एक साथ मतदान होगा। मतदाताओं को किसी भी प्रकार की मुश्किल न हो, इसके लिए कुल 952 मतदान केंद्र व 2754 बूथ बनाए गए हैं। मतदान को सकुशल निपटाने के लिए कुल 2754 पोलिंग पार्टियां बनाई गई हैं। प्रत्येक पार्टी में चार कर्मचारी रहेंगे। ऐसे में कुल 11 हजार 16 कर्मचारियों पर मतदान प्रक्रिया को निपटाने की जिम्मेदारी होगी। इसके अलावा 2204 कर्मचारियों को रिजर्व में रखा गया है।

पूर्व में हुए चुनावों में मतदान में लगे कर्मचारियों को जो स्वास्थ्य किट दी जाती थी, उनमें सभी प्रकार की जरूरी दवाएं रहती थीं। इस बार कोविड-19 को देखते हुए पहली बार स्वास्थ्य किट के साथ कर्मचारियों को ग्लब्स, मास्क व सैनिटाइजर दिया जाएगा। ऐसे में इस बार त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव पर कोरोना के प्रकोप का साफ असर दिखेगा।

इसके अलावा जो कर्मचारी रिजर्व में रखे गई हैं, उन्हें भी यह सभी सामग्रियां उपलब्ध कराई जाएंगी। इतना ही नहीं, मतदान के दौरान प्रत्येक बूथ पर न सिर्फ सोशल डिस्टेंसिंग का पालन कराया जाएगा, बल्कि सैनिटाइजर की भी व्यवस्था रहेगी। मतदान कक्ष में जाने से पहले मतदाता को सैनिटाइज किया जाएगा। इसके बाद ही उन्हें प्रवेश करने दिया जाएगा।

amarujala

Leave a Comment