भारत के प्रीमियम फोन बाजार में पहली तिमाही में 48 प्रतिशत रही एप्पल की हिस्सेदारी

1 of 1





नई दिल्ली। एप्पल ने 2021 की पहली तिमाही में लगभग 48 प्रतिशत बाजार हिस्सेदारी के साथ भारत के प्रीमियम बाजार में अपनी अग्रणी स्थिति बनाए रखी है। एक नई रिपोर्ट में यह दावा किया गया है। इस साल जनवरी-मार्च की अवधि में अपनी गति को आगे बढ़ाने हुए एप्पल ने 2021 की पहली तिमाही में भारत में 207 प्रतिशत (वर्ष-दर-वर्ष) की वृद्धि दर्ज की है।

नए काउंटरप्वाइंट रिसर्च ट्रैकर में कहा गया है कि ब्रांड ने लगभग 48 प्रतिशत शेयर के साथ प्रीमियम सेगमेंट (30,000 रुपये या 400 डॉलर से अधिक) में अपनी अग्रणी स्थिति बनाए रखी है। आईफोन एसई 2020 पर आक्रामक प्रस्तावों के साथ आईफोन 11 के लिए मजबूत मांग और मेक इन इंडिया क्षमताओं में विस्तार इस वृद्धि के प्रमुख कारक रहे हैं।

एप्पल ने पहली बार लगातार दो तिमाहियों में 10 लाख से अधिक शिपमेंट (बिक्री) दर्ज की है।

2020 की त्योहारी तिमाही में एप्पल भारत में छठा सबसे बड़ा स्मार्टफोन विक्रेता रहा, जिसने 171 प्रतिशत की वृद्धि दर्ज की। एप्पल ने 2020 की अंतिम तिमाही यानी अक्टूबर से दिसंबर की अवधि में अपनी सर्वश्रेष्ठ तिमाही दर्ज की, जिस दौरान कंपनी ने 15 लाख से अधिक यूनिट की बिक्री की।

पुरानी पीढ़ी के आईफोन 11 की बिक्री में वृद्धि और नए मिड-रेंज आईफोन एसई ने कंपनी को त्योहारी तिमाही में आगे बढ़ने में मदद की।

2020 के संपूर्ण वर्ष को देखें तो आईफोन बनाने वाली कंपनी एप्पल ने 93 प्रतिशत (वर्ष-दर-वर्ष) की वृद्धि दर्ज की।

भारत के स्मार्टफोन शिपमेंट में 2021 की पहली तिमाही में 3.8 करोड़ से अधिक यूनिट तक बिक्री के साथ 23 प्रतिशत वर्ष-दर-वर्ष की वृद्धि दर्ज की है। यह पहली तिमाही की उच्चतम शिपमेंट रही है। (आईएएनएस)

ये भी पढ़ें – अपने राज्य / शहर की खबर अख़बार से पहले पढ़ने के लिए क्लिक करे

Source link

Categories Gadgets

Leave a Comment