बैंक ATM मशीन की बिजली गुल कर 79 बार रुपये निकाल, 25 लाख की ठगी के बाद ऐसे पकड़े गये

हाइलाइट्स:

  • कोटा में एटीएम से जालसाजी करने वाले गिरोह का पर्दाफाश।
  • 25 लाख रुपये की धोखाधड़ी आई सामने।
  • भरतपुर, कोटो के तीन बदमाश गिरफ्तार।

कोटा। राजस्थान प्रदेश की कोटा शहर जिला पुलिस ने मंगलवार को बैंक एटीएम के जरिये लाखाें रुपेय की धोखाधड़ी का पर्दाफाश करते हुये 3 शातिर बदमाशों को दबोचा है। स्टेट बैंक ऑफ इंडिया (SBI) की ATM मशीनों से डेबिड कार्ड के जरिये ये शातिर अब तक 25 लाख रुपए की धोखाधड़ी और जालसाजी कर चुके थे। और महज 3 दिन में ही इस अंतरराज्यीय गिरोह ने लोगों के खातों से 7.60 लाख रुपये उठाये हैं। इनकी गिरफ्तारी के साथ ही देशभर में अंजाम दी गई अन्य वारदातों के खुलने की संभावना है।

कोटा शहर पुलिस अधीक्षक डॉ. विकास पाठक ने बताया कि विज्ञाननगर थाने में 22 मार्च को फरियादी नरेश पाल सिंह हाल उप प्रबन्धक एसबीआई एयरोड्राम सर्किल कोटा शहर ने रिपोर्ट दी थी। एसबीआई के विज्ञाननगर स्थित 4 एटीएम मशीनों पर 19 और 21 जनवरी 2021 के दौरान कुछ असमाजिक तत्त्वों ने 79 निकासी लेन-देन किये थे, जिनमें 7 लाख 60 हजार 500 रुपये निकाले गये है। ये निकासी लेन – देन विभिन्न बैंकों के डेबिट कार्डों से की गई।

उपचुनाव से पहले BJP के खिलाफ चुनावी दांव, योगेंद्र यादव का किसानों से वोट नहीं देने का आह्वान

ऐसे किया ठगी का खेल
गिरोह के बदमाशों नेATM पर लेन – देन करते समय ATM मशीन के साथ छेड़छाड़ कर लेन – देन को बाधित कर असफल बताने का प्रयास किया। इसके बाद बैंक के टोल फ्री नंबर पर असफल लेन – देन की शिकायत दर्ज करवाई। इसमें दोबारा लेन – देन का पैसा बैंको के खातों में प्राप्त कर लिया। लेन – देन के दौरान उक्त लेन – देन सामान्य प्रक्रिया के अंतर्गत ही किये गये। लेकिन बदमाशों ने उसी समय नोट को पकड़कर ATM मशीन के पीछे लगी पावर केवल को खींचकर एटीएम मशीन को बंद कर दिया गया। इससे उन्हें पैसा तो प्राप्त हो गया। परंतु बैंक के रिकॉर्ड मे ( Electronic Journal ) उक्त लेन – देन असफल रिकॉर्ड दर्ज हुआ। मुल्जिमानों ने असफल लेन – देन की झूठी शिकायत बैंक के पोर्टल पर दर्ज करवाकर क्लैम किया गया ओर पैसा प्राप्त कर लिया।

पाकिस्तान से आए तूफान ने मचाई तबाही, 70 से 80 किमी की रफ्तार ने बर्बाद की फसलें, पेड़ गिरे, टेंट उजड़े

सीसीटीवी और मोटरसाइकिल से पकड़े गये बदमाश
पुलिस थाना विज्ञाननगर ने प्रकरण दर्ज कर जांच अमर सिंह राठौड पुलिस निरीक्षक ने शुरू की। प्रकरण की गम्भीरता को देखते हुये प्रकरण के खुलासा और बदमाशों की जल्द गिरफ्तारी के लिए अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक प्रवीण जैन के निर्देशन में साइबर सैल कोटा की एक विशेष टीम गठित की गई। वारदात का खुलासा टीम ने घटनास्थल और घटनास्थल के आस के CCTV कैमरों के फुटेज की जांच की। अभय कमाण्ड के CCTV कैमरों की जांच की। घटना में मोटरसाइकिल RJ 33 SC 4778 का इस्तेमाल होना पाये जाने पर CCTV फुटेज और एटीएम मशीन पर लगे CCTV कैमरों की फुटेज और तकनिकी अनुसंधान के आधार पर सामने आया कि कोटा शहर में एक गिरोह ने सुनियोजित तरीके से विभिन्न बैंकों के डेबिट कार्ड से फ्रॉड कर और एटीएम मशीनों से छेड़छाड़ कर टोल फ्री नम्बर पर झूठी शिकायत कर लाखों रुपये की राशि धोखाधड़ी पूर्वक अपने खातों में प्राप्त कर ली है।
श्रीगंगानगर में एसीबी की 15 दिनों के भीतर दूसरी कार्रवाई, PHED विभाग के कर्मचारियों पर कसा शिकंजा

कोटा, भरतपुर के तीन बदमाश गिरफ्तार


जांच के आधार पर प्रकरण में गिरोह के भरतपुर जिले और हरियाणा के अभियुक्तों की पहुचान की गई। कोटा शहर का एक अभियुक्त भी चिन्हित हुआ। जिनकी तलाश में एक विशेष दल भरतपुर रवाना किया गया। फिर भरतपुर जिले के कैथवाडा रोड ग्राम झेंजपुरी के रहने वाले 24 वर्षीय तालिम, और डीग सीकरी रोड के शौकीन समेत स्थानीय कोटा शहर के अजहर खान को दबोचा गया। 23 मार्च को इस प्रकरण में तालिम, शौकीन और अजहर खान तीनों को गिरफ्तार किया गया। साथ ही वारदात में काम में ली गई, मोटरसाईकिल RJ 33sc4778 को जब्त किया गया है।

पाकिस्तान से आए तूफान ने मचाई तबाही, 70 से 80 किमी की रफ्तार ने बर्बाद की फसलें, पेड़ गिरे, टेंट उजड़े

India times

Leave a Comment