जनमंच मामला: प्रशासन ने जलशक्ति महकमे से तलब की सिंचाई योजना की रिपोर्ट

जनमंच हमीरपुर(फाइल)
– फोटो : अमर उजाला

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

*Yearly subscription for just ₹299 Limited Period Offer. HURRY UP!

ख़बर सुनें

ख़बर सुनें

हिमाचल प्रदेश के हमीरपुर में जनमंच के दौरान धनेड़ पंचायत के झगड़ियाणी स्कूल में मुर्दाबाद के नारे लगाने पर सुर्खियों में आए बुजुर्ग तुलसीराम शर्मा के उठाए सिंचाई योजना के मामले में प्रशासन ने जलशक्ति विभाग बड़सर से रिपोर्ट मांगी है। बुजुर्ग ने इससे पहले भी तीन जनमंच में यह समस्या उठाई थी। करीब एक साल से मामले में जलशक्ति विभाग ने कोई कार्रवाई नहीं की। रविवार को सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्री सरवीण चौधरी की अध्यक्षता में आयोजित जनमंच में बुजुर्ग ने इस मुद्दे को फिर से उठाया, लेकिन उन्हें पुलिस बल की मदद से कार्यक्रम से बाहर निकाल दिया गया।

तुलसी राम शर्मा ने जलशक्ति विभाग और सरकार की कार्यप्रणाली पर भी सवाल उठाए हैं। बताया कि उनके पैतृक क्षेत्र भालत में जो सिंचाई योजना शुरू हुई थी, उसमें बहुत बड़ा गड़बड़झाला हुआ है। करोड़ों रुपये खर्च होने के बावजूद किसानों को इस योजना का लाभ नहीं मिला।  उन्होंने बताया कि भालत क्षेत्र में लगभग 900 किसान खेती करते हैं। सिंचाई योजना से पानी न मिलने के कारण उनकी पैदावार में कमी हो रही है।

उन्होंने यह समस्या बड़सर विधानसभा क्षेत्र में हुए तीन जनमंचों टिप्पर, लोहारली, धंगोटा में उठाई थी, लेकिन न सरकार और न ही प्रशासन ने कोई कदम उठाया। मजबूर होकर वे झगड़ियाणी जनमंच में समस्या लेकर गए थे। दूसरे विधानसभा क्षेत्र का मुद्दा बताकर उन्हें वहां से धक्के देकर निकाला गया। उधर, जलशक्ति विभाग बड़सर के अधिशासी अभियंता राजीव सहगल ने कहा कि वह मीटिंग में हैं, इस मामले में बाद में बात की जाएगी। उधर, एडीएम हमीरपुर डॉ. जितेंद्र सांजटा ने कहा कि इस बारे में जलशक्ति विभाग से रिपोर्ट मांगी गई है।

हिमाचल प्रदेश के हमीरपुर में जनमंच के दौरान धनेड़ पंचायत के झगड़ियाणी स्कूल में मुर्दाबाद के नारे लगाने पर सुर्खियों में आए बुजुर्ग तुलसीराम शर्मा के उठाए सिंचाई योजना के मामले में प्रशासन ने जलशक्ति विभाग बड़सर से रिपोर्ट मांगी है। बुजुर्ग ने इससे पहले भी तीन जनमंच में यह समस्या उठाई थी। करीब एक साल से मामले में जलशक्ति विभाग ने कोई कार्रवाई नहीं की। रविवार को सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्री सरवीण चौधरी की अध्यक्षता में आयोजित जनमंच में बुजुर्ग ने इस मुद्दे को फिर से उठाया, लेकिन उन्हें पुलिस बल की मदद से कार्यक्रम से बाहर निकाल दिया गया।

तुलसी राम शर्मा ने जलशक्ति विभाग और सरकार की कार्यप्रणाली पर भी सवाल उठाए हैं। बताया कि उनके पैतृक क्षेत्र भालत में जो सिंचाई योजना शुरू हुई थी, उसमें बहुत बड़ा गड़बड़झाला हुआ है। करोड़ों रुपये खर्च होने के बावजूद किसानों को इस योजना का लाभ नहीं मिला।  उन्होंने बताया कि भालत क्षेत्र में लगभग 900 किसान खेती करते हैं। सिंचाई योजना से पानी न मिलने के कारण उनकी पैदावार में कमी हो रही है।

उन्होंने यह समस्या बड़सर विधानसभा क्षेत्र में हुए तीन जनमंचों टिप्पर, लोहारली, धंगोटा में उठाई थी, लेकिन न सरकार और न ही प्रशासन ने कोई कदम उठाया। मजबूर होकर वे झगड़ियाणी जनमंच में समस्या लेकर गए थे। दूसरे विधानसभा क्षेत्र का मुद्दा बताकर उन्हें वहां से धक्के देकर निकाला गया। उधर, जलशक्ति विभाग बड़सर के अधिशासी अभियंता राजीव सहगल ने कहा कि वह मीटिंग में हैं, इस मामले में बाद में बात की जाएगी। उधर, एडीएम हमीरपुर डॉ. जितेंद्र सांजटा ने कहा कि इस बारे में जलशक्ति विभाग से रिपोर्ट मांगी गई है।

Source link

Categories Simla

Leave a Comment