आईजीएमसी में महज 93 हेल्थ वर्करों ने लगवाई कोरोना वैक्सीन

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

*Yearly subscription for just ₹299 Limited Period Offer. HURRY UP!

ख़बर सुनें

ख़बर सुनें

200 कर्मचारियों का किया जाना था टीकाकरण
अब तक 400 में से 194 को ही लगा पाए हैं टीके
संवाद न्यूज एजेंसी
शिमला। इंदिरा गांधी मेडिकल कॉलेज एवं अस्पताल (आईजीएमसी) में सोमवार को कोरोना टीकाकरण अभियान के तहत 93 हेल्थ केयर वर्करों ने ही इंजेक्शन लगवाए। अस्पताल में 200 हेल्थ केयर वर्करों का टीकाकरण होना था। टीकाकरण करवाने कर्मचारियों के कम पहुंचने से स्वास्थ्य विभाग भी हैरान है।
आईजीएमसी में सोमवार को कोरोना वैक्सीन लगाई जानी थी लेकिन स्वास्थ्य कर्मचारियों के कम पहुंचने से विभाग के सामने परेशानी खड़ी हो गई है। अब तक 400 हेल्थ केयर वर्करों में से केवल 194 हेल्थ केयर वर्करों को ही यह टीका लग पाया है। आईजीएमसी में 2200 से अधिक कर्मचारी हैं। दूसरी और डीडीयू अस्पताल में भी टीकाकरण का अभियान चला। इस दौरान अस्पताल के वरिष्ठ डॉक्टरों ने आकर टीके लगवाए।
बताया जा रहा है कि अधिकांश हेल्थ केयर वर्कर छुट्टी पर चले गए हैं। इस कारण टीकाकरण नहीं हो पा रहा है। इसके पीछे तर्क दिया जा रहा है कि चुनाव होने से टीकाकरण में कमी आई है। लेकिन दूसरी और समस्या यह भी है कि जिन कर्मचारियों को पहला टीका नहीं लगा है वह दूसरे टीकाकरण से वंचित रह सकते हैं। समस्या यह है कि भविष्य में उन्हें कब टीका लगेगा अब यह निर्णय केवल सरकार ही ले पाएगी।

200 कर्मचारियों का किया जाना था टीकाकरण

अब तक 400 में से 194 को ही लगा पाए हैं टीके

संवाद न्यूज एजेंसी

शिमला। इंदिरा गांधी मेडिकल कॉलेज एवं अस्पताल (आईजीएमसी) में सोमवार को कोरोना टीकाकरण अभियान के तहत 93 हेल्थ केयर वर्करों ने ही इंजेक्शन लगवाए। अस्पताल में 200 हेल्थ केयर वर्करों का टीकाकरण होना था। टीकाकरण करवाने कर्मचारियों के कम पहुंचने से स्वास्थ्य विभाग भी हैरान है।

आईजीएमसी में सोमवार को कोरोना वैक्सीन लगाई जानी थी लेकिन स्वास्थ्य कर्मचारियों के कम पहुंचने से विभाग के सामने परेशानी खड़ी हो गई है। अब तक 400 हेल्थ केयर वर्करों में से केवल 194 हेल्थ केयर वर्करों को ही यह टीका लग पाया है। आईजीएमसी में 2200 से अधिक कर्मचारी हैं। दूसरी और डीडीयू अस्पताल में भी टीकाकरण का अभियान चला। इस दौरान अस्पताल के वरिष्ठ डॉक्टरों ने आकर टीके लगवाए।

बताया जा रहा है कि अधिकांश हेल्थ केयर वर्कर छुट्टी पर चले गए हैं। इस कारण टीकाकरण नहीं हो पा रहा है। इसके पीछे तर्क दिया जा रहा है कि चुनाव होने से टीकाकरण में कमी आई है। लेकिन दूसरी और समस्या यह भी है कि जिन कर्मचारियों को पहला टीका नहीं लगा है वह दूसरे टीकाकरण से वंचित रह सकते हैं। समस्या यह है कि भविष्य में उन्हें कब टीका लगेगा अब यह निर्णय केवल सरकार ही ले पाएगी।

Source link

Categories Simla

Leave a Comment